सौर विकिरण किसे कहते है ? तथा पृथ्वी का ऊष्मा बजट क्या है ,सूर्यातप

पृथ्वी का ऊष्मा बजट सौर विकिरण पृथ्वी के पृष्ठ पर प्राप्त होने वाली ऊर्जा का अधिकतम अंश लघु तरंगदैर्ध्य के रूप में आता है। पृथ्वी को प्राप्त होने वाली ऊर्जा को ‘ आगमी सौर विकिरण’ या छोटे रूप में * सूर्यातप‘ कहते हैं। पृथ्वी भू-आभ है। सूर्य की किरणें वायुमंडल के ऊपरी भाग पर तिरछी … Read more

मृदा क्या है तथा मृदा निर्माण की प्रक्रिया, विभिन प्रकार की मृदा

मृदा क्या है ? मृदा जिसमें बहुत रासायनिक भौतिक एवं जैविक क्रियाएं चलती रहती हैं मृदा अपक्षय आकर्षण का परिणाम है यह वृद्धि का माध्यम भी है यह एक परिवर्तनशील तथा तत्व है इसकी बहुत सी विशेषताएं मौसम के साथ बदलती रहती हैं यह वैकल्पिक रूप से ठंडी और गर्म या शुष्क एवं आद्र हो सकती … Read more

हिमनद किसे कहते हैं तथा हिमनद द्वारा निर्मित स्थलाकृति

हिमनद किसे कहते हैं पृथ्वी पर परत के रूप में हिम प्रवाह या पर्वतीय डालो से घाटियों में रैखिक प्रवाह के रूप में बहते हिम को हिमनद कहते हैं महाद्वीपीय हिमनद या गिरीपद हिमनद वे हिमनद हैं जो समतल क्षेत्र पर हिम औरत के रूप में फैले होते हैं तथा पर्वतीय या घाटी हिमनद वे … Read more

महासागरीय अधस्तल का विभाजन ,महासागरीय बेसिन ,तली,

महासागरीय अधस्तल का विभाजन महासागरीय अधस्तल के संबंध में  हैरी हेस ने 1960 में भटकन सिद्धांत तथा संवहनीय धारा सिद्धांत जैसे संकल्पना प्रस्तुत की सागरीय स्तर विस्तार अभिमत प्रस्तुत किया हैरी हेस ने मध्य महासागरीय कटक ओके दोनों ओर के चट्टानों के चुंबकीय गुणों के विश्लेषण के आधार पर अपना मत प्रस्तुत किया हैरी हेस … Read more

जेट वायुधारा क्या है? ,प्रकार और प्रभाव, विशेषताएँ, महत्व

जेट वायुधारा (Jet Stream) •ये क्षोभसीमा (Tropopause) के निकट पश्चिम से पूर्व दिशा में चलने वाली अत्यधिक तीव्र गति की क्षैतिज पवनें हैं। जेट वायुधाराएँ लगभग 150 किमी. चौड़ी एवं 2 से 3 किमी. मोटी एक संक्रमण पेटी में सक्रिय रहती हैं। सामान्यतः इनकी गति 150 से 200 किमी. प्रति घंटा रहती है, परंतु क्रोड़ … Read more

अपरदन क्या है ? तथा नदी अपरदन के प्रकार | Nadi Apardan Ke Prakar

अपरदन क्या है ? तथा नदी अपरदन के प्रकार

 अपरदन क्या है ? इसके अंतर्गत बहता जल (नदी) भूमिगत जल, सागरीय तरंग, हिमानी परी     नदी अपरदन के प्रकार ? ( Nadi Apardan Ke Prakar )   नदी अपरदन (बहता जल) कोई नदी अपनी सहायक नदियों समेत जिस संपूर्ण क्षेत्र का जल लेकर आगे बढ़ती है, वह क्षेत्र प्रवाह क्षेत्र या नदी-द्रोणी या … Read more

अपक्षय क्या है ? तथा रासायनिक अपक्षय के प्रकार | Apakshay kya hai

रासायनिक अपक्षय के प्रकार:    1 ऑक्सीकरण ऑक्सीजन द्वारा शेलो पर होने वाले प्रभाव को ऑक्सीकरण कहते हैं। जल में ऑक्सीजन CO2 गैस घुली रहती है वायुमंडलीय आद्र ऑक्सीजन गैस चट्टानों के खनिजों से सहयोग कर उन्हें आक्साइड में बदल देती है।  यही गैस युक्त जल उष्ण एवं अर्ध उष्ण प्रदेशों में लौह युक्त चट्टानों … Read more

भारत के 13 प्रमुख बंदरगाह की सूची | List of ports in India

भारत के प्रमुख बंदरगाह  बंदरगाह देश की मुख्य भूमि की 5600 किलोमीटर लंबी तट रेखा पर 13 बड़े तथा 185 मध्य में छोटे बंदरगाह स्थित है बड़े बंदरगाहों का नियंत्रण एवं प्रबंधन केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है जबकि छोटे व मध्यम बंदरगाह का संविधान की समवर्ती सूची में शामिल है जिनका प्रबंधन तथा प्रशासन … Read more

कोपेन का जलवायु वर्गीकरण, पद्धति, विशेषता, वर्गीकरण का आधार

कोपेन का जलवायु वर्गीकरण (kopen ka Jalvayu vargikaran)   विश्व की जलवायु का अध्ययन जलवायु संबंधी आंकड़ों एवं जानकारियों को संगठित करके किया जा सकता है इन आंकड़ों को आसानी से समझने के लिए हमें इनका विश्लेषण करना अति आवश्यक कहता था छोटी इकाइयों में बांटना महत्वपूर्ण है जिससे हम इनका अध्ययन आसानी पूर्वक कर … Read more

प्राकृतिक वनस्पति किसे कहते है ,प्रकार,एवं उनकी विशेषताएं ,घासस्थल

  हेलो दोस्तों स्वागत है आपका एक बार फिर से आज इस लेख में हम जानेंगे प्राकृतिक वनस्पति के बारे में जैसा कि हम सब जानते हैं हमारी पृथ्वी पर विभिन्न प्रकार के पेड़ पौधे, घास स्थल, वन ,कटीली झाड़ियां, मरुस्थल ,पठार, विद्यमान है और हमारी पृथ्वी पर विभिन्न प्रकार की प्राकृतिक वनस्पति पाई जाती … Read more