सौर विकिरण किसे कहते है ? तथा पृथ्वी का ऊष्मा बजट क्या है ,सूर्यातप

पृथ्वी का ऊष्मा बजट सौर विकिरण पृथ्वी के पृष्ठ पर प्राप्त होने वाली ऊर्जा का अधिकतम अंश लघु तरंगदैर्ध्य के रूप में आता है। पृथ्वी को प्राप्त होने वाली ऊर्जा को ‘ आगमी सौर विकिरण’ या छोटे रूप में * सूर्यातप‘ कहते हैं। पृथ्वी भू-आभ है। सूर्य की किरणें वायुमंडल के ऊपरी भाग पर तिरछी … Read more

मृदा क्या है तथा मृदा निर्माण की प्रक्रिया, विभिन प्रकार की मृदा

मृदा क्या है ? मृदा जिसमें बहुत रासायनिक भौतिक एवं जैविक क्रियाएं चलती रहती हैं मृदा अपक्षय आकर्षण का परिणाम है यह वृद्धि का माध्यम भी है यह एक परिवर्तनशील तथा तत्व है इसकी बहुत सी विशेषताएं मौसम के साथ बदलती रहती हैं यह वैकल्पिक रूप से ठंडी और गर्म या शुष्क एवं आद्र हो सकती … Read more

हिमनद किसे कहते हैं तथा हिमनद द्वारा निर्मित स्थलाकृति

हिमनद किसे कहते हैं पृथ्वी पर परत के रूप में हिम प्रवाह या पर्वतीय डालो से घाटियों में रैखिक प्रवाह के रूप में बहते हिम को हिमनद कहते हैं महाद्वीपीय हिमनद या गिरीपद हिमनद वे हिमनद हैं जो समतल क्षेत्र पर हिम औरत के रूप में फैले होते हैं तथा पर्वतीय या घाटी हिमनद वे … Read more

महासागरीय अधस्तल का विभाजन ,महासागरीय बेसिन ,तली,

महासागरीय अधस्तल का विभाजन महासागरीय अधस्तल के संबंध में  हैरी हेस ने 1960 में भटकन सिद्धांत तथा संवहनीय धारा सिद्धांत जैसे संकल्पना प्रस्तुत की सागरीय स्तर विस्तार अभिमत प्रस्तुत किया हैरी हेस ने मध्य महासागरीय कटक ओके दोनों ओर के चट्टानों के चुंबकीय गुणों के विश्लेषण के आधार पर अपना मत प्रस्तुत किया हैरी हेस … Read more

जेट वायुधारा क्या है? ,प्रकार और प्रभाव, विशेषताएँ, महत्व

जेट वायुधारा (Jet Stream) •ये क्षोभसीमा (Tropopause) के निकट पश्चिम से पूर्व दिशा में चलने वाली अत्यधिक तीव्र गति की क्षैतिज पवनें हैं। जेट वायुधाराएँ लगभग 150 किमी. चौड़ी एवं 2 से 3 किमी. मोटी एक संक्रमण पेटी में सक्रिय रहती हैं। सामान्यतः इनकी गति 150 से 200 किमी. प्रति घंटा रहती है, परंतु क्रोड़ … Read more